20 हजार राजनैतिक मुकदमे वापस लेगी योगी सरकार

0
77

 

लखनऊ, 21 दिसंबर।
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने गुरूवार को विधानसभा में ऐलान किया कि सरकार 20 हज़ार से ज्यादा राजनीतिक मुकदमे वापस लेने की तैयारी कर रही है। ये मुकदमे केवल धरना प्रदर्शन करने के आधार पर विभिन्न धाराओं में दर्ज किये गए हैं।

सीएम योगी ने यह बात सदन में यूपीकोका विधेयक पर चर्चा करते हुए कही।  सीएम ने सामने बैठे विरोधी दलों के सदस्यों से पूछा कि आप लोग तो कानून व्यवस्था का बड़ा सवाल उठाते हो, तो अब यूपीकोका का विरोध क्यों? इस यूपीकोका का हम कतई दुरुपयोग नहीं होने देंगे। सीएम ने तंज करते हुए कहा, जब सावन ही आग लगाए, उसे कौन बुझाए?

योगी ने कहा कि यूपीकोका से चिंतित होने की ज़रूरत नहीं है। राज्य में अपराधी, राजनेता और अफसरों का गठबंधन रहा है, जिसे तोड़ने की जरूरत है।

नेता विरोधी दल रामगोविंद चौधरी ने सीएम योगी के बोलने के बाद सदन में कहा कि उन्होंने लंबा-उबाऊ संबोधन दिया। यूपीकोका काला कानून है। यह अघोषित इमरजेंसी है। पहले भी ऐसा विधेयक आया था। श्री चौधरी ने कहा कि सीएम में हिम्मत नहीं थी काले कानून पर विपक्ष को सुनने की। उनको डर था, इसलिए चले गए।

जब योगी सदन से जाने लगे तो सपा के आज़म खाँ ने कहा नेता सदन के रहने से सदन संयमित रहता है। नेता विपक्ष बोल रहे हैं तो नेता सदन को नहीं जाना चाहिए। यह विपक्ष का अपमान है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here