मुंबई में लगी मौत की आग, 14 लोगों की मौत, 15 झुलसे, लोकसभा तक पहुँचीं लपटें

0
209

योगेश खत्री

मुंबई 29 दिसंबर 2017 ।

बस्ती के सारे लोग ही आतिशपसंद थे,
घर मेरा जल रहा था समंदर गरीब था।

आग की ये ऊंची-ऊंची लपटें हैं मुंबई की मौत की आग की। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में मौत की यह आग पॉश इलाके लोअर परेल के कमला मिल्स कंपाउंड बिल्डिंग के तीसरे माले पर स्थित लंदन टैक्सी बार के मोजो पब में रात्रि करीब 12:30 बजे लगी, जिससे पास के दो अन्य रेस्टोरेंट्स को भी नुकसान पहुंचा। रेस्टोरेंट में खुशबू मेहता नाम की एक युवती की एक बर्थडे पार्टी चल रही थी, जिसमें करीब 40 से 50 लोग मौजूद थे।

आग ने देखते ही देखते विकराल रूप धारण कर लिया और पार्टी में शामिल बर्थडे गर्ल सहित 14 लोग दम घुटने के कारण इस आग की भेंट चढ़ गए और 15 अन्य लोग बुरी तरह झुलस गए, जिनका मुंबई के केईएम, जसलोक और सियोन अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इसके अलावा हादसे में 40 लोग घायल भी बताए जा रहे हैं। मृतकों में 11 महिलाएं और 3 पुरुष हैं जबकि झुलसे लोगों में से कई की हालत गंभीर है। इसलिए मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है। मुंबई के एडिशनल एसपी एस. जय कुमार ने मृतकों की संख्या 15 बताई। मुंबई महानगरपालिका के कमिश्नर अजोय मेहता ने अस्पतालों में जाकर अग्निकांड पीड़ितों का हाल जाना और दोषियों के खिलाफ कार्यवाही किए जाने की बात कही।

मुंबई की जिस बिल्डिंग में यह आग लगी उसमें TV9, टाइम्स नाउ और ज़ूम जैसे अनेक टीवी चैनल्स और ICICI जैसे बैंकों के दफ्तर भी मौजूद हैं। लेकिन उन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचा। इतना जरूर है कि वहां से संचालित एक स्थानीय न्यूज़ चैनल मिरर नाउ का प्रसारण अग्निकांड के समय रोक दिया गया।

आग पर करीब ढाई घंटे में काबू पाया जा सका और आग को बुझाने में 12 दमकलें लगीं। आग लगने का कारण अभी स्पष्ट नहीं है। लेकिन माना जा रहा है कि आग इलेक्ट्रिक शार्ट सर्किट के कारण लगी। जिस रेस्टोरेंट में आग लगी, उसका लाइसेंस नहीं था और न ही उसमें आग से बचाव के उपकरण मौजूद थे। इसलिए इस संबंध में रेस्टोरेंट मालिक और मैनेजर के खिलाफ गैर इरादतन हत्या की धारा 304 ए के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस अग्निकांड की जांच के आदेश दिए हैं। वहीं मुंबई की मौत की इस आग की लपटें दिल्ली में लोकसभा तक आ पहुंचीं, जहां भाजपा सांसद किरीट सोमैया ने मृतकों की संख्या 18 बताते हुए इलाके के सभी मॉल्स के फायर ऑडिट की मांग उठाई, वहीं शिवसेना सांसद अरविंद गणपत सावंत ने इस अग्निकांड की न्यायिक जांच की मांग की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर दु:ख जताया है और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने इस हादसे और नए साल की पार्टियों के दृष्टिगत दिल्ली के समस्त ट्रॉमा सेंटर्स को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here