धार्मिक नगरी मथुरा, वृन्दावन और गोवर्धन में नव वर्ष मनाने के लिए उमड़ा भक्तों का सैलाब

0
89

धार्मिक नगरी मथुरा, वृन्दावन और गोवर्धन में नव वर्ष मनाने के लिए उमड़ा भक्तों का सैलाब

(मोहित/अरुण/सुभाष/ऋषभ)
मथुरा/वृंदावन/गोवर्धन 1 जनवरी।
सोमवार को वर्ष 2018 का पहला दिन की शुरुआत धर्मनगरी मथुरा, वृंदावन और गोवर्धन में श्रद्धालुओं ने अपने आराध्य के दर्शनों के साथ की।

मथुरा के पुष्टिमार्गीय सम्प्रदाय के विश्वविख्यात ठाकुर श्री द्वारिकाधीश महाराज के मंदिर में सुबह मंगला दर्शन के साथ ही मन्दिर परिसर में श्रद्धालु भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी।
इस दौरान हर कोई अपने साल का शुभारंभ ठाकुर जी की मनभावन छवि को निहारने के साथ करने के लिए लालायित नजर आया।

आधुनिकता के दौर में भी धार्मिक प्रवृत्ति के लोगों की कमी नहीं है, जो अपने नवीन कार्यों के साथ-साथ नये साल की शुरूआत भी धार्मिक परिवेश में ही करना पसन्द करते हैं।

ऐसा ही भव्य व दिव्य नजारा सोमवार को मन्दिरों की नगरी श्रीधाम वृन्दावन में नववर्ष मनाने के लिये आये भक्तों के अपार जनसैलाब के रूप में देखने को मिला। देश के विभिन्न प्रान्तों से आए श्रद्धालुओं के वाहनों की प्रमुख मार्गों पर लम्बी-लम्बी कतारें लगी रहीं। परन्तु प्रशासन द्वारा नव वर्ष पर उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए की गयी नो एंट्री की व्यवस्था के तहत वाहनों को शहर के बाहर पार्किंग स्थलों पर ही रोक दिया गया।

नए साल का आगाज भक्तिभाव के साथ हो और वर्षभर ठाकुरजी की कृपा बनी रहे। इसी भावना के साथ वृन्दावन धाम में आए लाखों श्रद्धालु भक्तों के आकर्षण का केन्द्र विश्वविख्यात ठाकुर बांकेबिहारी मन्दिर रहा।

प्रातः मन्दिर के पट खुलने के समय से पूर्व ही श्रद्धालुओं का रेला ठाकुर बांकेबिहारी को हैप्पी न्यू ईयर बोलने की चाहत के साथ मन्दिर की ओर प्रस्थान करने लगा। भीड़ का आलम ये था कि मन्दिर के सम्पर्क मार्गों पर दूर-दूर तक भक्तों की लाइन दिखाई दी और दर्शनार्थियों को अपने आराध्य की झलक पाने के लिये कई घण्टे भारी भीड़ में खड़े रहकर इंतजार करना पड़ा।

इसके बावजूद भक्तों की आस्था व श्रद्धा देखने लायक थी, जो भीड़ का अत्यधिक दबाब तथा गलनभरी ठण्ड में नंगे पैर खड़े रहने आदि परेशानियों को अनदेखा कर श्रीबाँकेबिहारी और राधे-राधे का जयघोष करते हुए अपनी मंजिल की ओर बढ़ते जा रहे थे। मन्दिर के आंतरिक परिसर में प्रवेश करने के बाद भक्तों ने अपने लाड़ले ठाकुर की बांकी छवि के दर्शन कर स्वयं को धन्य किया तथा प्रभु को नव वर्ष की बधाई देते हुए सुख-समृद्धि की कामना की। इस दौरान नियो न्यूज द्वारा जब भक्तों से बात की गई तो उन्होंने अपने आनन्द की अनुभूति होने की बात कही।

इसी प्रकार गिर्राजधाम गोवर्धन में भी बड़ी संख्या श्रध्दालु आए, जिन्होंने गिर्राज बाबा के दर्शन किए और परिक्रमा लगाकर अपने नए साल की शुरूआत की।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here