लापता पुजारी की काली नदी में मिली लाश, हत्या कर फेंका गया शव

0
118

 

गुड्डू यादव
कासगंज 12 जनवरी 2018।
4 दिनों से लापता एक 55 वर्षीय मंदिर पुजारी का शव आज शुक्रवार को काली नदी में मिलने क्षेत्र में सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुँचे क्षेत्रीय लोगों और मृतक के परिजनों ने हत्या कर शव को काली नदी में फेंकने का आरोप लगाया है। फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की तहकीकात शुरू कर दी है।

मृतक साधु अमांपुर थाना क्षेत्र के गांव नगला भूड़ का रहने वाले थे और कासगंज कोतवाली क्षेत्र के अमरपुर ढिलावली गांव के जंगल में बने भगवान शंकर विराजमान मंदिर पर एक वर्ष से पुजारी के रूप में रहते थे। वह भगवान मुनि के नाम से जाने जाने जाते थे।

ग्राम प्रधान राजकुमार ढिलावली की मानें तो मंदिर पुजारी 9 जनवरी की रात्रि 8 बजे से लापता थे। उनकी काफी तलाश की गई। लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला। वह बड़े ही सज्जन पुजारी थे, जिनका शव आज शुक्रवार सुबह काली नदी में पड़ा होने की सूचना अमरपुर गांव के एक ग्रामीण द्वारा मिली तो पूरा गांव नदी पर पहुँच गया। घटना की सूचना मिलते ही पुजारी के परिजन भी नदी पर पहुँच गए। शव नदी में और पास में पड़े मोबाइल को देखकर वे हत्या की आशंका जताने लगे।

पुजारी की मौत की खबर सुनते ही परिवार के लोगों का रो-रोकर बुरा हाल था। मौके पर ही पहुँची पुलिस ने मृतक के बेटे की तहरीर पर मामला दर्ज कर लिया है और हत्या के कारणों का पता लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं। जब इस मामले में मृतक के बेटे प्रेमदत्त से बात की गई तो उन्होंने अपने पिता भगवान मुनि की हत्या कर शव नदी में फेंके जाने का आरोप लगाया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here