सगे भाई ने बहन को मौत के घाट उतारा

0
201

 

सुंदर सिंह
अलीगढ़ 13 जनवरी 2018
थाना क्वार्सी इलाके की निशात बाग कॉलोनी में सगे भाई ने बहन को मौत के घाट उतार दिया। घटना से कॉलोनी में सनसनी फैल गई है। 20 दिन बाद बहन को डोली में रुख्सत करने वाले भाई ने उसी बहन को दुनिया से ही विदा कर दिया और घटना को अंजाम देकर खुद ने थाने में जाकर सरेंडर कर दिया। पुलिस ने आरोपी भाई को लॉकअप में डाल दिया है और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

अलीगढ़ के थाना क्वार्सी इलाके के निशात बाग कॉलोनी में रहने वाले एक परिवार पर ऐसा पहाड़ टूट पड़ा कि जिसने भी इस परिवार की दास्तान सुनी तो सुनकर हर कोई दंग रह गया। करीब 20 वर्षीय रानी अपने मौहल्ले के ही एक युवक के साथ प्रेम प्रसंग में बह गई। इस प्रेम प्रसंग को उसके परिवारीजन नापसंद कर रहे थे और रानी का रिश्ता परिजनों ने सिकंदराराऊ के गांव हरनोट में तय कर दिया। जब से रानी और उसके प्रेमी ने इस रिश्ते के बारे में जाना तो दोनों के दिल में भरा हुआ प्यार अंगड़ाइयां लेने लगा और एक दूसरे के साथ जीवन जीने के लिए कसमे वादे खाने निकल पड़े।

रानी के घर से भाग जाने की खबर जैसे ही उसके परिवारीजनो को लगी तो वे स्तब्ध रह गए। रानी के इस कदम से पूरे परिवार में उसकी चिंता के साथ एक आक्रोश ने जन्म ले लिया और वह दिन पर दिन बढ़ता गया।

इधर किसी भी तरह रानी शुक्रवार को अपने घर वापस आ गई। लेकिन उसकी हठ थी कि वह अपने प्रेमी के साथ ही निकाह करेगी। रानी की यह जिद उसके भाई अब्दुल रजाक को नागवार गुजर रही थी। आज फिर से वही हुआ, घर में रिश्ते को लेकर कहासुनी हो गई और रानी के भाई अब्दुल रजाक ने इस कहासुनी के बीच अपना आपा को खो दिया और जिस बहन का निकाह कराकर उसे डोली में विदा करना था, उसको अवैध तमंचे से दो गोलियां मार दीं।

अब्दुल रजाक ने इस घटना को अंजाम देने के बाद संबंधित थाना क्वार्सी में जाकर अपने आप को पुलिस के हवाले कर दिया और जिस तमंचे से अपनी बहन की ज़िंदगी की सांसें रोकी थी, उस तमंचे को भी पुलिस के हाथों में सौंप दिया।

आपको बता दें अब्दुल रज्जाक और रानी घर में तीन भाई और तीन बहनें हैं, जिनमें यह दोनों ही अपनी बहन-भाइयों में सबसे बड़े हैं। रानी के पिता अब से कुछ समय पहले ही खुदा को प्यारे हो चुके थे। रानी और अब्दुल रजाक की मां रुखसाना परिवार का पालन पोषण कर रही थी। लेकिन आज रुखसाना की बेटी खुदा को प्यारी हो गई तो बेटा अपनी बहन के खून से रंगे हाथों को लेकर पुलिस लॉकअप में बंद है।

पुलिस ने जैसे ही अब्दुल रज्जाक को तमंचे के साथ थाने में देखा तो वह कुछ भांप गये और उसके बताए अनुसार घटनास्थल पर पहुंचे और अब्दुल रज्जाक की मृतक बहन रानी के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बाकी घटना की जांच में जुट गई है। अब्दुल रजाक ने सबके सामने अपना जुर्म कबूल भी किया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here