किशोरी का मिला शव, हत्या का आरोप

0
433

सौरभ/राहुल

मथुरा 1 मई 2018।
थाना गोविंद नगर क्षेत्र के अहेरियान मोहल्ले की रहने वाली 17 वर्षीय अंजू अपने घर से बाहर बाजार किताब लेने के लिए गई थी। लेकिन जब देर शाम तक वह घर नहीं लौटी तो परिजनों को चिंता हुई। उन्होंने काफी खोजबीन की। लेकिन जब अंजू का कोई सुराग नहीं लगा तो पीड़ित परिवार थाने पहुंचा, जहां पुलिस को अंजू की गुमशुदगी की जानकारी दी। लेकिन पुलिस ने सुस्त कार्यशैली के कारण परिवार को 24 घंटे के बाद रिपोर्ट दर्ज करने की कहकर टहला दिया गया। अपनी बच्ची के लापता होने के दर्द से परेशान परिजनों ने खुद ही अपनी बेटी को खोजने के प्रयास किए और जहां जहां खोजबीन कर सकते थे। खोजबीन कर ही रहे थे कि गुमशुदगी के तीसरे दिन मंगलवार दोपहर जब वह अपनी बेटी अंजू को खोजने के लिए अलग-अलग जगहों पर गए हुए थे, तभी उन्हें सूचना मिली कि थाना सदर बाजार क्षेत्र के यमुना किनारे महादेव घाट पर एक 17 वर्षीय लड़की का शव मिला है। शव की शिनाख्त के लिए पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे। परिजनों ने शव की पहचान अंजू के रूप में की। परिजनों के अनुसार घर के पास के ही रहने वाले नामजद युवक अंजू के साथ छेड़छाड़ किया करते थे और कमेंट पास किया करते थे जिसके कारण पहले भी कई बार दोनों पक्षों में विवाद हो चुका था। परिजनों के अनुसार मोहल्ले के रहने वाले नामजद आरोपियों ने अंजू की हत्या की है, यमुना के महादेव घाट से बरामद हुए अंजू के सब की पहचान मिटाने के आरोपियों द्वारा प्रयास किए गए थे क्योंकि जिस तरीके से चेहरे को बिगाड़ने की कोशिश की गई और मृतका के सर पर बाल हटाए गए उससे हत्या के बाद सब की शिनाख्त छुपाने के इरादे साफ दिखाई दे रहे थे। पुलिस ने अंजू के पेंट की जेब से एक मोबाइल भी बरामद किया है जिसकी मदद से पुलिस घटना की जांच आगे बढ़ा रही है। पुलिस की लापरवाह कार्यशैली से नाराज परिजनों ने पोस्टमार्टम हाउस के सामने सड़क पर बैठकर जाम लगा दिया और पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान उठाने लगे। मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी लोगों को निष्पक्ष जांच और आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही का आश्वासन दिया और जाम खुलवाया।

आपको बता दें कि थाना सदर बाजार क्षेत्र के इसी महादेव घाट पर रिक्शा चालक युवक की हत्या कर शव फेंका गया था जहां तंत्र विद्या के कारण पैसो के लालच में रिक्शा चालक युवक की हत्या कर दी गई थी उसी घटनास्थल पर से बरामद हुए अंजू के सामने अपनी मौत के पीछे कई सवाल खड़े कर दिए हैं कि आखिर रविवार से लापता हुई अंजू महादेव घाट तक कैसे पहुंचे क्या आसपास क्षेत्र के रहने वाले किसी शख्स ने उधर जाते हुए किसी व्यक्ति को नहीं देखा फिलहाल पूरे मामले का पटाक्षेप पुलिस की जांच के बाद ही हो सकेगा कि आखिर हत्या के कारणों के पीछे क्या मकसद छुपा है?

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here