हिंदी नहीं उर्दू चाहिए ,चुनाव जीतने के बाद BSP की मनमानी ,वंदे मातरम भी नहीं गाएंगे

उर्दू में शपथ ग्रहण करने की व्यवस्था करने के लिए नगर आयुक्त को लिखा पत्र वंदे मातरम भी नहीं गाएंगे

0
46

अलीगढ़-वार्ड संख्या 54 से बसपा के टिकट पर निर्वाचित पार्षद मुशर्रफ हुसैन महजर ने हिंदी में शपथ लेने से इंकार कर दिया |

उन्होंने कहा कि वह नगर निगम बोर्ड की बैठक शुरु होने से पहले वंदे मातरम गान में भी शामिल नहीं होंगे क्योंकि संविधान में इसका कोई जिक्र नहीं है मुशर्रफ हुसैन ने नगर आयुक्त संतोष कुमार शर्मा को पत्र लिखकर कहा है कि वह पार्षद की शपथ उर्दू में लेंगे इसलिए उनका उर्दू भाषा में शपथ लेने का प्रबंध किया जाए |

दूसरी ओर अभी शपथ ग्रहण करने के संबंध में मंगलवार तक नगर विकास मंत्रालय में कोई दिशा निर्देश नगर निगम के पास नहीं आए हैं राज्य चुनाव आयोग ने नगरीय चुनाव संपन्न होने के बाद विजयी प्रत्याशियों का नाम और अन्य विवरण नगर विकास मंत्रालय को भेज दिया है|

नगर निगम के मुख्य कर निर्धारण अधिकारी डॉक्टर संजीव सिन्हा ने बताया कि नगर विकास मंत्रालय की ओर से पत्र आएगा जिसमें लिखा होगा कि 8 या 10 दिन के अंदर शपथ ग्रहण समारोह कराएं इन ही दिनों के अंदर कोई तारीख निर्धारित कर ली जाए|

शपथ ग्रहण समारोह होने से 1 महीने के अंदर ही बोर्ड की पहली बैठक होनी होती है अब यही परंपरा रही है जैसे शासन की ओर से कोई दिशा-निर्देश प्राप्त होगा उसी के मुताबिक व्यवस्था कर ली जाएगी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here