पंडित दीनदयाल उपाध्याय के किसान भवन में  9 एवं 10 में होगी द्वि दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी

बुधवार को वेटरनरी विश्वविद्यालय के प्रांगण में आयोजित प्रेस वार्ता में जानकारी देते हुए संगोष्ठी के समन्वयक डॉक्टर रोशन लाल एवं विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ कृष्ण मुरारी लाल पाठक ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि 9 एवं 10 दिसंबर को वेटरनरी विश्वविद्यालय के किसान भवन में आयोजित होने वाली राष्ट्रीय संगोष्ठी में प्रदेश के साथ-साथ देश भर के प्रमुख विद्वान और विशेषज्ञ आ रहे हैं

0
22

पंडित दीनदयाल उपाध्याय के सक्रिय राजनीतिक जीवन से तो अधिसंख्य लोग परिचित हैं किंतु यह संभवत कम ही लोगों के संज्ञान में होगा कि वह एक महान विचारक गहन दार्शनिक और उच्च कोटि के विद्वान भी दे। उन्होंने कई पुस्तकों की रचना की तथा विभिन्न पत्र पत्रिकाओं में अनेकों लेख और निबंध भी लिखे।

वह एकात्म मानववाद नाम मौलिक दर्शन के प्रणेता थे और अंतोदय के विचार की धारणा भी उन्हीं के द्वारा प्रतिपादित की गई थी। यह चालू वर्ष उनकी जनशताब्दी का वर्ष है। देश भर में जहां पर मैंने स्थानों पर उनके विचारों पर शोध संगोष्ठी एवं चर्चाओं का दौर चल रहा है तो वही इस क्रम में आगामी 9 एवं 10 दिसंबर को पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्मभूमि स्मारक समिति द्वारा वेटरनरी विश्वविद्यालय के किसान भवन में द्वि दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन होने जा रहा है।

बुधवार को वेटरनरी विश्वविद्यालय के प्रांगण में आयोजित प्रेस वार्ता में जानकारी देते हुए संगोष्ठी के समन्वयक डॉक्टर रोशन लाल एवं विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ कृष्ण मुरारी लाल पाठक ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि 9 एवं 10 दिसंबर को वेटरनरी विश्वविद्यालय के किसान भवन में आयोजित होने वाली राष्ट्रीय संगोष्ठी में प्रदेश के साथ-साथ देश भर के प्रमुख विद्वान और विशेषज्ञ आ रहे हैं जो पंडित दीनदयाल जी के व्यक्तित्व कृतित्व तथा उनके योगदान पर गहन चर्चा और मंथन करेंगे और इससे युवा पीढ़ी को भी उनके आदर्शों एवं विचारों से अवगत कराएंगे।

उन्होंने बताया कि दो दिवसीय संगोष्ठी का उद्घाटन 9 दिसंबर को प्रातः 10:30 बजे होगा जिसकी अध्यक्षता वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति कृष्ण मुरारी लाल पाठक करेंगे जिसमें मुख्य अतिथि के रुप में ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा तथा मुख्य वक्ता के रूप में अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री ओमपाल और विशिष्ट अतिथि के रुप में डॉक्टर बी आर अंबेडकर विश्वविद्यालय के कुलपति अरविंद कुमार दीक्षित मौजूद रहेंगे।

वही संगोष्ठी का समापन 10 दिसंबर को दोपहर 2:00 बजे होगा जिसकी अध्यक्षता जीएलए विश्वविद्यालय के कुलपति दुर्ग सिंह चौहान करेंगे। जिसमें मुख्य वक्ता भाजपा के राष्ट्रीय सह महामंत्री शिव प्रकाश तथा मुख्य अतिथि के रुप में कैबिनेट मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण और विशिष्ट अतिथि के रुप में शिमला विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति एडीएन वाजपेई मौजूद रहेंगे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here